Saturday, July 10, 2010

एक लड़की

एक लड़की
भोली भाली
नाक सुनकती
धीरे धीरे चलती
विद्यालय जाती
जब वापस आती
खिलखिलाती
मुस्काती
सबको हँसाती


मेरी आवाज

3 comments:

Udan Tashtari said...

नाक सुनकती ??

:)

प्रवीण पाण्डेय said...

विद्यालय से आती,
सबको ज्ञान सिखाती,
खाना खाती धीरे धीरे,
फिर थक कर सो जाती ।

संजय भास्कर said...

"माफ़ी"--बहुत दिनों से आपकी पोस्ट न पढ पाने के लिए ...